Thursday, October 9, 2008

विजय दसमी शुभ हो सब को !

फ़िर से संदेश देना आया दशहरा ,
अँधेरा हो कितना ही गहरा,
अच्छे पे लगा हो कितना ही पहरा,
जीत सदा होती हा सच की
मुबारक हो तुमको सच का दशहरा.

6 comments:

Udan Tashtari said...

विजय दशमी पर्व की बहुत बहुत बधाई एवं शुभकामनाऐं.

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` said...

आपको विजया दशमी की बधाई एवँ शुभकामना, परिवार सह:
- लावण्या

36solutions said...

विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनांयें

Dr. Ashok Kumar Mishra said...

िवजयदशमी पवॆ की शुभकामनाएं ।
अच्छा िलखा है आपने

दशहरा पर मैने अपने ब्लाग पर एक िचंतनपरक आलेख िलखा है । उसके बारे में आपकी राय मेरे िलए महत्वपूणॆ होगी ।

http://www.ashokvichar.blogspot.com

Asha Joglekar said...

विजयदशमी पवॆ की शुभकामनाएं ।

Unknown said...

आप को भी वधाई हो.
जीत सदा होती है सच की,
बना रहे विश्वास हमेशा.

अनुप्रिया के रेखांकन

स्त्री को सिर्फ बाहर ही नहीं अपने भीतर भी लड़ना पड़ता है- अनुप्रिया के रेखांकन

स्त्री-विमर्श के तमाम सवालों को समेटने की कोशिश में लगे अनुप्रिया के रेखांकन इन दिनों सबसे विशिष्ट हैं। अपने कहन और असर में वे कई तरह से ...